औरतों की दूध की टंकियाँ

मेरी माँ एक दुधारू गाय है – 1
मेरा नाम प्रेम है और मैं मेरी माँ सरोजा, जिनकी उम्र 32 साल है उनके साथ रहता हूँ.
मेरी मम्मी और मुझमे एक अनोखा रिश्ता है. मेरी मम्मी मुझे इस उम्र में भी अपना दूध पिलाती हैं.माँ चाहती थी की उनके चार-पांच बच्चे हो और वो बहुत सालों तक उन्हें स्तनपान कराती रहे पर उनको सिर्फ एक औलाद ही पैदा हुई. पर मम्मी की स्तनपान करने की इच्छा बहुत मज़बूत निकली और उन्होंने मुझसे अपने स्तनों का दूध नहीं छुड़वाया बल्कि समय के साथ उनके स्तनों में दूध का उत्पादन बढ़ता गया.
मेरी माँ एक बहुत मोटी औरत हैं. उनके पूरे बदन पे वसा की बड़ी-बड़ी परतें जमी हैं. माँ के बदन को ढकने के लिए माँ को बदन ढकने के लिए अबद्ध आकर के वस्त्रों की ज़रुरत पड़ती है. माँ अपने भारी स्तनों को समाने के लिए 48-HH कप की चोली पहनती हैं. घर में मम्मी चोली नहीं पहनती पर स्तनों को ठीक से ढकने के लिए उन्हें बहुत बड़ी ब्लाउज की आवश्यकता पड़ती है
माँ के स्तनों ने हमेशा से दूध की ​​भारी मात्रा का उत्पादन किया है.मेरी माँ का दूध न केवल मेरी पोषण की मांग को संतुष्ट करता था जब मैं 1 साल से छोटा था, बल्कि मेरी उम्र में वृद्धि के साथ, माँ ने अपने दूध से बने खाने के सामान मुझे देने शुरू कर दिए और इस पूरे समय मुझे ज्यादा-ज्यादा देर तक स्तनपान करवाती रही.मैं एक बच्चा हूँ.मैं कैसे आनंद नहीं लेता स्तनपान का , माँ के दूध के मीठे स्वाद का , माँ की चूचियां चूसने का ?तो मैंने स्तनपान जारी रखा और माँ ने मुझसे दूध नहीं छुड्वाया , जिसके परिणामस्वरूप.मैं अभी भी माँ का दूध पीता हूँ. माँ का दूध अभी भी मेरे पोषण का प्रमुख भाग प्रदान करता है.

Comments