चाची और चाची की दो बेहने – 2

हेलो दोस्तों मैं जीशान कहानी का दूसरा भाग लेकर आया हु।

अब तक आप पड़े हैं।

कैसे चाची को 2 साल चाहता रहा और कैसे पटाया।

चाची : और कितना तड़पायेगा, डाल दे रे जीशान, रह नही जा रहा है।

ये बात सुनते ही मैं और नीचे पैंटी पे आगया। नीली रंग वाली पैंटी को अपने हाथों से निकला। चाची ब सहयोग करने लगी। केया नजारा था दोस्तों। काले घने बाल थे चूत पे। उस काले घने बाल पर भी लाल चूत साफ दिख रही थी। चूत में पानी निकाल रहा था। मैं देर न करते हुवे अपने कपड़े निकल रहा था। चाची बटन्स खोल रही थी। जल्दी से अपने कपड़े निकल दिया। मैं अंडरवियर में था।

चाची : क्या मस्त बॉडी बनाया है जीशान। जिम जाता है क्या?

मैं : हां चाची जान।

चाची अब मुझे निचे करके चूमने लगी। पूरा जिस्म पागल की तरह चाट रही थी। चाची मेरा लंड अंडरवियर के ऊपर से ही हाथ मे पकडलिया। और बोलने लगी

चाची : ये क्या है। मेरा बेटा इतना बड़ा जवान होगया है।

अब आगे पढ़िए।

मैं : तुमने तो 2 साल पहले देखा था। अब तो जवान हु।

चाची : कुछ ज़्यादा ही जवानी उभर आई है।

ये कहते हुवे चाची ने मेरे अंडरवियर निकल दी। और लंड देखकर चौंक गए।

चाची : अरे जीशान ! ये इतना बड़ा कैसे है।

मैं : इतना भी बड़ा नाइ है। पोर्न स्टार्स का तो 10 इंच होता है।

चाची : मैं तो इतना बड़ा नाइ देखी हु। मैं तो तेरे चाचा के अलावा किसी और का देखी नाइ हु। और तू बदमाश आज मुझे रंडी बना रहा है इतने बड़े लंड से।

ये चाची की कामुकता बातो से मैं उतेजित होगया। चाची को अपने पास खींच कर बोलने लगा

मैं : रंडी नही राणी।

चाची : हाँ वही तेरे लिए राणी लेकिन सबको रंडी ही दिखूंगी अगर किसी को पता चले तो।

मैं : ये किसीको पता नही चलेगा।

मैं ये कहते हुवे उनकी चूत में उँगली डालने लगा। चाची मचल उठी। सिस्कारने लगी, आआआआआह।

चाची : डालदे अंदर।

मैं चाची को नीचे खींचा और उनकी चूत चाटने लगा। अब तो मेरी जीब का कमाल दिखाने लगा। चाची की आह बढ़ने लगी।

चाची : अरे ये तू क्या करने लगा है। उठ ऊपर।

मैं : मैं चूत को चाट रहा हु। मजा आएगा।

चाची : उसको भी कोई चाटता है क्या? कैसे अजीब अजीब हरकते करने लगा है तू ?पहले तो नाभि चटा और अब चूत? पागल होगया है।

मैं : चाचा तुम्हें कबि नही चटा चूत और नाभि।

चाची : नही। वहां भी कोई चाटता है क्या?

मैं : अरे चाची जान, तो तुम आबि तक ज़िन्दगी की असली मज़ा नाइ लिए हो। ये सब करने से ही असली मज़ा आता है।

और मैं ज़ोर से जीब अंदर डालने लगा और चूत के दीवारों चीरते हुवे अंदर जा रहा था।

चाची : आआआआआह ऊऊम्म्म आआआह। चाची को नए मज़े दे रहा है और चाची को अपना बना रहा है। शाबश बेटा।

उनके हाथों से मुझे और ज़ोर से पकड़ने लगी चाची। मैं और ज़ोर से चूत को चाट रहा था और चाची गांड उचलके मज़े ले रही थीं। चूत काफी गीली हो चुकी थी। एक घंटा से रोमांस जो हो रहा है, लगता है 2 बार झाड़ गई होगी।

चाची : अब लंड भी तो डालदे। और कितना तड़पायेगा। जल्दी डाल।

अब मैं ऊपर उठगाय और मेरा लंड चाची के मुँह के पास लेके गया।

चाची : क्या कर रहा है? चुत में डालदे।

मैं : पता है। तुम लंड को चूसना लंड गिला होजायेगा और आसानी से अंदर जाएगा।

चाची : ये सब मुझसे नाइ होगा। तुम्हारे चाचा भी एक बार पूछा था, मन करदिया मैंने। अब तू चुप चाप अंदर डाल।

मैं ये सब सुननेको तैयार नाइ था। चाची बात कर रही थी और मैं लंड उनके मुह में डालदिया और मुह को चोदने लगा। चाची की सिसकारियां अंदर ही रह गयी ऊऊऊह। और मुझे ज़ोर से धक्का देके लंड को  बाहर निकाला।

चाची : मादरचोद बोला न मुझसे नाइ होगा ये सब। अब मैं जा रही हु।

ये कहके चाची उठने लगी। मैं उनका हाथ पकड़के बेड पे गिरादिया। और उनके ऊपर आक्रमण करते हुवे मेरा लंड को उनके चुत के ऊपर रगड़ रहा था। चाची सिस्कार रही थी।

मैं : अब चाची का गुस्सा कहा गया। गायब हो गया?

चाची : साले अब डालदे अंदर। अब तेरा मोटा लंड लेना है।

ये सुनकर मैं मेरा लंड एक ज़ोर धक्के से अंदर डालने लगा। लंड मोटा होने के कारण सिर्फ टोपा अंदर गया। चाची की चीख रूम में गूंजने लगी लंबी चीख आआआआआआआआआह

चाची : मार देगा मुझे। निकल इसको। चुत फट रही है।

मैं : इसीलिए बोला थोड़ा चुसलो आसान से अंदर जायेगा।

चाची : तू धीरे से अंदर डाल।

मुझे गुस्सा आया।  अब चाची को दिखाना ही पड़ेगा। इस बार ज़ोर से झटका मारा। आधा लंड अंदर गया। और चाची की चीख तेज़ होगयी। आआआआआआआआआआआआआआआआह ऊऊऊऊऊऊह

चाची : आज तू मुझे जान से मारने वला है। मादरचोद मेरी चुत को फाड़ देगा तू।

ये चीखे सुनकर और ज़िर करने लगा। एक और ज़ोर से झटका मारा। अब पूरा लंड अंदर जा चुका था। चुत काफी टाइट होगयी थी। चाची अब और ज़ोर से चीखने वाली थी। मैं अपने हाथ से उनका मुह बन्द करदिया। आवाज कही बाहर सुनाई न दे। उनकी आआआह गले मे ही रुक गयी। ऊऊऊम्म्म्म्म। अब मैं भी मज़े लेने लगा। चाची मेरे हाथ को मुह से हटाया।

चाची : कितना बड़ा लंड है तेरा। और इतना मोटा। तेरा चाचा का तो इसके सामने बेकार है। फट गई रे मेरी चुत। चुद गयी रे मैं। आआआआआह ऊऊऊऊऊऊह ऊऊऊम्म्म्ममम्ममम्म।

चाची अब लाइन पे आगयी थी। अब उनका दर्द मज़े में बदल गया था।

मैं : ये लो, और ये लो। कैसा है बेटे का लंड चाची जान। ये चुत पे मेरा कब्जा है अब।

चाची : हां रे जीशान। मेरे हाथ से खान खाता था। और अब मेरी चुत मार रहा है। और मुझे इतना मज़ा दे रहा है। ये चुत तेरी है। तू जब चाहे तब मिल जाएगी। और ज़ोर से चोद तेरी चाची को। मादरचोद।

मैं एक हाथ से उनके बूब्स दबा रहा था। और दूसरे हाथ से उनके मुह में उंगली कर रहा था।

मैं : चाची तू मेरी हैं। और तेरी चुत भी मेरी हैं।

ज़ोर ज़ोर धक्कों से पच पच का साउंड और हमारी सिसकारियों से कमर गूंज रहा था। मेरा लंड एक बार पानी छोड़ चुका था  बाथरूम में, इसलिए काफी देर तक चुदाई चली। करीब 10 मीन चली।

चाची ज़ोर से मुझे झकड लिया और एक लंबी चीख मार्के झाड़ गई आआआआआआआआआआआआआआआआह

चाची : मेरी ज़िंदगी की सबसे यादगार चुदाई। और सबसे बेस्ट। तेरी पत्नि लकी है जीशान। उसे हर दिन जन्नत दिखायेगा तू।

मेरा भी होने वाला था। ज़ोर से धक्के मरना शुरू किया और चुत के अंदर ही झाड़ गया। और उनके ऊपर ही लेट गया।

मैं : चाची कैसे लगा?

चाची : बहुत मस्त लगा जीशान। मुझे इतना मज़ा कबि नही मिला।

ये बोलके चाची मेरे माथे पे किस किया।

मैं : चाची चाचा आपको कभि चुत नही चाटि क्या?

चाची : नही। इतना समय कहा देते है मुझे। 5 मिनट लंड अंदर डालके चोदते हैं और अंदर झाड़ जेक सजाते हैं।

मैं : इसीलिए ही तो आपको मज़े नाइ मिली है। आपको मैं सब मज़े दूंगा। तुम्हे पता है ये सब क्यों करते हैं?

चाची : नही क्यों?

मैं : औरत ज़्यादा देर तक झाड़ती नाइ है। लेकिन मर्द 10 मिनीट में झाड़ जाते है। औरत 25 – 35 मिनट नाइ झाड़ती है। इसकी वजह से पूर्ण संतुष्ट करने के लिए पहले ज़्यादा टाइम रोमांस और चुत चटना और नाभि चाटना और बूब्स दबाना सब करते है ताकि फिर चुदाई में दोनों एक बार झाड़ जाए।

चाची : वह रे मेरे बेटे, इतना सब कुछ जनता है। किसने बताया ये सब? सच बता, तू पहले भी सेक्स किया है ना?

मैं थोड़ी शर्म से हां कहके सर हिलाया ( ये कहानी मैं आपको इस सीरीज खत्म हिने के बाद बताता हूं)

चाची : कौन है वो ? गर्लफ्रैंड ?

मैं : लगभग ऐसे ही। लेकिन अब कांटेक्ट नाइ है।

चाची : उसको ये सब पता था?

मैं : मतलब उसके माँ को पता था।

चाची : उसके माँ को भी?

मैं : वो विदेशी थी। उनके यहां ये सब कॉमन है।

चाची : अच्छ। और क्या क्या सिखया वो विदेशी गर्लफ्रैंड और उसकी माँ ने?

ये कहके चाची हँसने लगी।

मैं : चाची। बस करो अब। अभी  बहुत कुछ सीखा हु। औरत को कैसे संतुष्ट करते हैं सब।

चाची : हमे भी संतुष्ट करदो।

मैं : अबी किया नही?

चाची : अब तो पूर्ण संतुष्ट हु। लेकिन तेरी कला को देखना चाहती हु।

मैं : है ज़रूर क्यों नही। तुम थोड़ा पीछे मुड़के लेट  जाओ।

चाची पीछे मुड़के लेट गयी।

मैं : चाची तुम्हारी गांड बहुत मस्त है और  मोटी भी हैं।

मैं उनके चूतड़ दबाने लगा और गांड की छेद में ऊँगली डालने लगा। चाची रोकने लगी।

चाची : ये क्या कर रहा है? वो गंदी जगह है।

मैं : मुझे वो चाहिए।

चाची : मतलब?

मैं : मतलब गांड मरना चाहता हु।

चाची : कैसे कैसे अजीब अजीब बाते करने लगा है तू।

मैं : प्लीज चाची। और मज़ा आयेगा।

चाची : देखेंगे।

अचानक डोर बेल्ल बजने लग। चाचा को आने को देर लगेंगी। लेकिन आबि कौन आया है।

चाची : कौन?

बाहर से आवाज आने लगी ‘ मैं परवीन और सलमा आये हैं। (नाम बदले हैं)

ये दोनों चाची के बहन हैं। चाची के परिवार के बारे में बता देता हूं। चाची के 3  बहन है। चाची से मिलाकर कुल 4 बहने। पहली परवीन आंटी दूसरी सलमा आंटी और तीसरी चाची रेशमा और चौथी शाहीन।

परवीन आंटी के बारे में बताता हूं। परवीन आंटी का हाइट चाची से कम है। उनका हाइट 5 फुट होगा। और उभर शरीर है। उनके बूब्स तो 40 के होंगे कमर 38 की होगी और गांड 42 की होगी। देखने मे मस्त माल दिखती है। काफी सुंदर भी है। स्कूल में टीचर का जॉब करती है। उनका उम्र लगभग 42 होगा।

और दूसरी बहन सलमा आंटी। सलमा आंटी काफी लंबी थी। 5 फुट 10 इंच। मेरे से भी लंबी थी। और शरीर काफी फिट था। उनके बूब्स 38 कमर 34 और  गांड 40 की थी। उम्र लगभग 40 साल होगा।

ये तीनो बहनों वही टाउन में रहते हैं। हमेशा आना जाना रहता है। जब मैं 10वी चाची के घर मे पड़ रहा था, तब मैं उन्हें बहुत बार देखा हु चाची के घर मे। और वो मुझसे बहुत अच्छा बात करते हैं। वो 3  बहने सेक्स बॉम्ब्स थे। 10वी में था तबसे उनके ऊपर निगाह थी। लेकिन क्या करे चाची ही नाइ मिली तो उनकी बहने कहा से मिलेंगे। अब तो चाची मेरी है। अब उनकी बहनों पे ट्राय करना था।

चाची जल्दी से ब्रा और पैंटी पहनी और नाइटी पहनके डोर खोलने चली गयी, और मैं भी अंडरवियर सब पहनके हॉल में आगया।

परवीन : अरे जीशान बेटा। कब आये तुम। काफी बड़े होगये हो। कैसे हो?

सलमा : और कैसे चल रही है पढ़ाई?

मैं : सब ठीक चल रही है आंटी। और आप सब कैसे हैं?

परवीन : ठीक हैं सब।

सलमा : सब ठीक हैं।

सलमा : तुम नेक्स्ट क्या करने वाले हो?

मैं : आबि सोच नही ? एंट्रेंस एग्जाम लिखके आया हु। रैंक पे डिपेंड करता है।

सलमा : आलिया ( उनकी बड़ी बेटी ) डेंटल खत्म होगया इस साल। उसको शादी भी जाम गयी है।

मैं : इतनी जलदी?

परवीन : अंजू ( उनकी बड़ी बेटी)  की तो 22 में शादी करदी थी मैं ने।

चाची : मैं सबके लिए चाय बनके लाती हूं।

चाची किचन में गयी। मैं उनके पीछे से गया पानी पीने के बहाने में। चाची का किचन छोटा था। आगरा कोई एक खड़ा होता है तो दूसरा पास करना मुश्किल है। चाची चाय बना रही थी। मैं उनको पकड़के पास होने लगा। मेरा लंड उनके गांड को छू रहा था।

चाची : अभी भी खड़ा है तेरा लंड साले?

मैं : अब तो तुम्हारे दो बहन को देखके खड़ा होगया है।

चाची : साले और कितनी चुत चहुये तुझे। मादरचोद।

मैं : चाची के पास जेक बोलने लगा मुझे वो दोनो चाहिए। तुम ही कुछ करो। नही तो यही चोद दूंगा।

ये बोलके उनके बूब्स दबा दीया।

चाची : ये इतना आसान नाइ है। तू मेरी नाक कटवाएंग।

मैं : तुम बस कुछ भी कार्लो हमे अकेले में रहने का इंतज़ाम करो। बाकी सब मैं संभाल लूंगा।

चाची : मैं कोशिश करती हूं। लेकिन तू मुझे पहले चोदेगा फिर उनको। तेरी पहली ऑपशन मैं रहूंगा।

मैं : वो तो तुम हमेशा रहोगी। मेरी जान। चाची जान।

चाची की गांड कैसे मेरी मैं ने और उनके बहनो को कैसे चोदा अगले  भाग में जानिए।

आपके कमैंट्स और सजेशन ईमेल और इंस्टाग्राम पे बताईये  [email protected]

Instagram :

Comments